Shrikhand Mahadev Yatra by Bawray Banjaray

Shrikhand Mahadev Yatra 2018 | Vlog – Bawray Banjaray At Shrikhand

15 अगस्त वाले वीकेंड पर बागा सराहन और फिर वहाँ से श्रीखंड महादेव जाने का प्लान था अपना। होकर तो आ चुके हैं पर वहाँ से अभी बाहर नहीं निकल पाए हैं। जिसका कभी अंदाज़ा भी न रहा हो वैसा एक्सपीरियंस रहा; जो दिखा वो कल्पना से परे था, जो सुना वो आजतक अन-सुना था – शोर था और शान्ति भी। मॉनसून था तो पूरी वादी में बादल खेल रहे थे और प्रकृति जैसे ओस का पर्दा करे बैठी हो। कभी-कभी बस जब बादल हटते तो दूर क्षितिज दिखता वरना एहसास हवा में तो था पर नज़ारा बंद।


रास्ते में ही कुछ मिल जुलकर 13 लोग हो गए थे श्रीखंड की ओर जाने वाले – कुछ लोकल थे,कुछ बाहर के घूमने वाले ही। कुछ लोग ऊपर भी मिले और साथ हो लिए। चलना, रुकना, बैठना, बातें, हंसी-मज़ाक, किस्से – कहानियाँ, सब हुआ साथ ही जो काम करने गए थे वो भी बख़ूबी हुआ। ट्रेवलिंग की ये भी तो एक अलग निराली बात है ना कि आपकी बातें शुरू तो अजनबियों से होती हैं पर जब आप विदा लेते हैं तो दोस्तों से। और दोस्तों के साथ घूमने का भी मज़ा है, काम करने का भी और जिंदगी का भी।

Read Shrikhand Mahadev Yatra — दर्शन, दर्पण, अर्पण, सम्मोहन, सशक्तिकरण और समर्पण!

For more information on Shrikhand Mahadev Trek, read our Shrikhand Guide

Facebook Comments